World Philosophy Day 2024 | विश्व दर्शन दिवस क्यों मनाया जाता है | Vishv Darshan Divas की शुरुआत

Editor
0

World Philosophy Day 2024: जब भी हम एक-दूसरे से बात कर रहे होते हैं तो अक्सर हमारे मुंह से यह निकल आता है कि हम फिलॉसफी को ज्यादा न बताएं. वैसे तो हर क्षेत्र में अलग-अलग फिलॉस्पीफर होते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर विश्व दर्शन दिवस क्यों मनाया जाता है।

Vishv Darshan Divas के बारे में कई विचारक कहते हैं कि यह हमें स्वयं के प्रतिबिंब पर चिंतन करना सिखाता है। Philosophy ने सदियों से हर संस्कृति में विचारों, अवधारणाओं और विश्लेषण को जन्म दिया है।

यूनेस्को के अनुसार, दर्शन उन सिद्धांतों और मूल्यों का वैचारिक आदान-प्रदान है जिन पर विश्व शांति टिकी हुई है, जैसे: लोकतंत्र, न्याय, समानता और मानवाधिकार।

toc
World Philosophy Day Kab Manaya Jata Hai?
Date यह दिन हर साल नवंबर के तीसरे गुरुवार को मनाया जाता है।
शुरुआत यूनेस्को ने वर्ष 2002 से विश्व दर्शन दिवस मनाने की परंपरा शुरू की थी।
विवरण दुनिया के सभी लोगों को दार्शनिक विरासत और नए विचारों के खुलेपन को साझा करने के साथ-साथ सामाजिक चुनौतियों पर चर्चा करने के लिए बुद्धिजीवियों और सभ्य समाज को प्रेरित करने के लिए प्रोत्साहित करना है।
World Philosophy Day

World Philosophy Day क्यों मनाया जाता है।

यूनेस्को की ओर से कहा गया है कि इस दिन का उद्देश्य लोगों को अपने विचार व्यक्त करने के लिए प्रोत्साहित करना है। लोगों के विचारों, समस्याओं आदि को आपस में साझा करना है।

इसके अलावा इसका उद्देश्य यह है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी लोग अपने विचार व्यक्त करें और अपने विचारों पर बहस करें। आज के बच्चों का नजरिया पहले के मुकाबले लोगों से काफी अलग है।

इसलिए इस बात को ध्यान में रखते हुए ऐसे बच्चों को प्रोत्साहित करने की जरूरत है। ताकि वह अन्य लोगों के साथ अपने विचार साझा कर सके और सभी विषयों पर अपने विचार व्यक्त किए जा सकें।

यह दिन 2002 से मनाया जा रहा है.

यूनेस्को ने 2001 में इस दिन को मनाने की घोषणा की थी। पहला विश्व दर्शन दिवस वर्ष 2002 में मनाया गया था। इस दिन को मनाने मानवीय विचारों को विकसित करना है।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(31)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !