Prayagraj Magh Mela 2023: खुशखबरी! मेले के लिए यूपी रोडवेज अतिरिक्त बसें चलाएगी

0

Prayagraj Magh Mela 2023: प्रयागराज में संगम तट पर 6 जनवरी से माघ मेला शुरू होने जा रहा है। मेला फरवरी में बसंत पंचमी तक चलेगा। माघ मेले की लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या को देखते हुए यूपी रोडवेज अतिरिक्त बसें चलाने की तैयारी कर रहा है. यूपी रोडवेज के एमडी संजय कुमार के मुताबिक माघ मेला में अतिरिक्त बसें चलाई जाएंगी। बसों के संचालन को लेकर क्षेत्र तय कर लिए गए हैं।

एमडी के अनुसार विभागीय तौर पर माना जा रहा है कि मौनी अमावस्या और बसंत पंचमी के प्रमुख स्नान तिथियों पर मेले में अधिक भीड़ होगी, जिसमें यात्रियों की सुविधा के लिए 20 से 27 जनवरी तक बसों के संचालन पर अधिक जोर रहेगा. प्रयागराज आ रहे श्रद्धालु लोगों को बसों में सफर की सुविधा का लाभ मिले इसके लिए विभाग के अधिकारियों व कर्मियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं।

श्रद्धालु इन क्षेत्रों में तीर्थ यात्रा कर सकेंगे

संगम नगरी में माघ स्नान करने आने वाले लोग इसके आसपास के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के दर्शन भी कर सकेंगे। इसके लिए यूपी रोडवेज संगम नगरी आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए प्रयागराज के आसपास के प्रमुख तीर्थ स्थलों जैसे अलोपी देवी मंदिर, हनुमान मंदिर, काशी, विंध्याचल, चित्रकूट और अयोध्या के लिए 80 अतिरिक्त बसें भी चलाएगा। वहीं, इन अतिरिक्त बसों के संचालन के अलावा 200 बसों को रिजर्व में रखा जाएगा। ताकि बसों के खराब होने की स्थिति में रिजर्व बसों को बदला जा सके।

कोविड प्रोटोकॉल को सख्ती से लागू किया जाएगा

बता दें कि, इस बार माघ मेले में आने वाले लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाएगा. कोविड प्रोटोकॉल के तहत की गई व्यवस्थाओं को लेकर प्रयागराज के सीएमओ डॉ. अंशु पांडेय के मुताबिक पूरे मेला क्षेत्र में 18 एंट्री गेट बनाए गए हैं. सभी प्रवेश द्वारों पर 4 सदस्यीय स्वास्थ्य कर्मियों की टीम मौजूद रहेगी। टीम मेला क्षेत्र में आने वाले श्रद्धालुओं व कल्पवासियों की इंफ्रारेड स्कैनर से जांच करेगी। इसके अलावा कोविड हेल्प डेस्क में मौजूद स्वास्थ्य कर्मी लोगों को टीकाकरण करने के साथ ही कोविड संक्रमण से बचाव की जानकारी भी देंगे. इसके अलावा कई डॉक्टरों की भी प्रतिनियुक्ति की गई है।

ये हैं रेलवे के इंतजाम

माघ मेले से पहले सभी तरह की तैयारियां कर ली गई हैं। इसके साथ ही प्रयागराज जंक्शन पर यात्रियों के लिए सुविधाओं से लैस चार यात्री शेल्टर तैयार किए गए हैं। इस शेल्टर में 2500 लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा इस जंक्शन पर कम से कम 10 हजार यात्रियों के रुकने की व्यवस्था की गई है. साथ ही आश्रय स्थलों में पूछताछ काउंटर, अनारक्षित टिकट काउंटर, ट्रेन टाइमिंग डिस्प्ले बोर्ड, अनाउंसमेंट सिस्टम, पेयजल, लाइट व शौचालय की व्यवस्था की गई है, ताकि यात्रियों को किसी तरह की परेशानी न हो.

Magh Mela 2023 कब से शुरू होगा माघ मेला? 30 दिनों तक रहता है जानिए क्यों

आपको बता दें कि प्रयागराज जंक्शन पर सीसीटीवी कैमरे तक लगा दिए गए हैं. यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रयागराज जंक्शन पर रेलवे सुरक्षा बल और जीआरपी के जवान तैनात रहेंगे. स्नान पर्व पर प्रयागराज पहुंचने वाले यात्रियों के लिए रेलवे ने पूरा रूट तैयार कर लिया है।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ा है, तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें सुधार किया जाए, तो आप इसके लिए टिप्पणी लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको अच्छी जानकारी देना है, और उसके लिए मुझे स्वयं उस जानकारी की वास्तविकता की जाँच करनी होती है। फिर वह जानकारी इस ब्लॉग पर प्रकाशित की जाती है।

आप इसे यहां नहीं पाएंगे। उदाहरण के लिए-

  • 🛑कंटेंट के बीच में गलत कीवर्ड्स का इस्तेमाल।
  • 🛑एक ही बात को बार-बार लिखना।
  • 🛑सामग्री कम लेकिन डींगे अधिक।
  • 🛑पॉपअप के साथ उपयोगकर्ता को परेशान करना।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो या कुछ सीखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें। लेख को अंत तक पढ़ने के लिए एक बार फिर से दिल से धन्यवाद!🙏

buttons=(OK!)days=(1)

Our website uses cookies to enhance your experience
Accept !