Anita Bose, Netaji Birth Anniversary 2023 नेताजी की जयंती पर RSS के कार्यक्रम में उनकी बेटी ने उठाए सवाल, कहा

0

Netaji Birth Anniversary नेताजी जयंती: 23 जनवरी को पूरा देश नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती मनाएगा. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने भी इसे मनाने का फैसला किया है लेकिन नेताजी की बेटी अनीता बोस को यह बात पसंद नहीं आई है. उन्होंने इसकी निंदा की है और कहा है कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस आरएसएस के आलोचक थे।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कोलकाता के शहीद मीनार में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 126वीं जयंती मनाने जा रहा है. कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत मुख्य वक्ता होंगे.

अनीता बोस ने कहा

इंडिया टुडे से बात करते हुए, अनीता बोस ने कहा, "मेरे पिता एक ऐसे व्यक्ति थे जो एक कट्टर हिंदू थे, लेकिन सभी धर्मों का सम्मान करते थे और मानते थे कि हर कोई एक साथ रह सकता है। मुझे नहीं लगता कि आरएसएस उस पर विश्वास करता है।"

हाँ। अगर आरएसएस नेताजी की विचारधारा को अपनाने लगे तो यह भारत के लिए अच्छा होगा। नेताजी धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करते थे। अगर आरएसएस हिंदू राष्ट्रवादी विचारों का प्रचार करना चाहता है, तो वह नेताजी की विचारधारा से मेल नहीं खाएगा। अगर इसके लिए नेताजी का इस्तेमाल किया जाता है, तो मैं इसकी सराहना नहीं करूंगा।"

चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'मैं देखूंगी कि वे केवल जुबान से नेताजी के विचारों को सम्मान नहीं दे रहे हैं।' हालांकि, नेताजी की बेटी ने कहा कि वह इस बात का सम्मान करती हैं कि आरएसएस उनका 126वां जन्मदिन मना रहा है. उन्होंने कहा कि नेताजी के सिद्धांतों का इस्तेमाल उपमहाद्वीप के लिए फायदेमंद होगा।

Netaji Birth Anniversary 2023 नेताजी के क्रांतिकारी विचार

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के क्रांतिकारी विचार आपको जीवन में जोश से भर देंगे- नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती पर पढ़ें उनके अनमोल विचार और जानिए कैसे आप इन विचारों को जीवन में अपनाकर सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

  • भविष्य अभी भी मेरे हाथ में है।
  • तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा।
  • सफलता हमेशा असफलता के स्तंभ पर खड़ी होती है।
  • मैं जीवन की अनिश्चितता से बिल्कुल भी भयभीत नहीं हूं।
  • विश्वास की कमी ही सभी परेशानियों और दुखों की जड़ है।
  • अच्छे चरित्र का निर्माण छात्रों का मुख्य कर्तव्य होना चाहिए।
  • जहां शहद की कमी हो वहां शहद का काम गुड़ से ही निकालना चाहिए।
  • संघर्ष ने मुझे इंसान बनाया, मुझमें आत्मविश्वास जगाया, जो पहले नहीं था।
  • याद रखिये अन्याय सहना और गलत से समझौता करना सबसे बड़ा अपराध है।
  • इतिहास गवाह है कि विचार-विमर्श से कभी कोई वास्तविक परिवर्तन नहीं हुआ।
  • एक सच्चे सैनिक को सैन्य और आध्यात्मिक प्रशिक्षण दोनों की आवश्यकता होती है।
  • राष्ट्रवाद मानव जाति के उच्चतम आदर्शों यानी सत्यम, शिवम, सुंदरम से प्रेरित है।
  • जीवन में, भले ही आपको अस्थायी रूप से झुकना पड़े, तब भी वीरों की भांति झुकना।
  • जो अपने बल पर भरोसा करते हैं वे आगे बढ़ते हैं और उधार की शक्ति वाले घायल हो जाते हैं।
  • हमारा काम सिर्फ अभिनय करना है! कर्म हमारा कर्तव्य है! फल देने वाला स्वामी ऊपर वाला है।
  • यह मेरा अनुभव है कि आशा की कोई न कोई किरण हमेशा रहती है जो हमें जीवन से भटकने नहीं देती।
  • राजनीतिक सौदेबाजी के रहस्यों में से एक यह है कि आप वास्तव में जितने मजबूत हैं, उससे कहीं ज्यादा मजबूत दिखें।

हमारी यात्रा कितनी भी भयानक, कष्टदायक और बदतर क्यों न हो, हमें आगे बढ़ते रहना है। सफलता का दिन दूर हो सकता है, लेकिन वह आना तय है।

मेरा जीवन महान लक्ष्यों को पूरा करने के लिए है, उन्हें पूरा करना मेरा कर्तव्य है... नैतिक विचारों की धारा में मैं अपने लक्ष्य से कभी विचलित नहीं हो सकता।

Netaji Birth Anniversary 2023 नेताजी की जयंती पर RSS के कार्यक्रम में उनकी बेटी ने उठाए सवाल, कहा
Anita Bose & Netaji Birth Anniversary

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ा है, तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें सुधार किया जाए, तो आप इसके लिए टिप्पणी लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको अच्छी जानकारी देना है, और उसके लिए मुझे स्वयं उस जानकारी की वास्तविकता की जाँच करनी होती है। फिर वह जानकारी इस ब्लॉग पर प्रकाशित की जाती है।

आप इसे यहां नहीं पाएंगे। उदाहरण के लिए-

  • 🛑कंटेंट के बीच में गलत कीवर्ड्स का इस्तेमाल।
  • 🛑एक ही बात को बार-बार लिखना।
  • 🛑सामग्री कम लेकिन डींगे अधिक।
  • 🛑पॉपअप के साथ उपयोगकर्ता को परेशान करना।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो या कुछ सीखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें। लेख को अंत तक पढ़ने के लिए एक बार फिर से दिल से धन्यवाद!🙏

buttons=(OK!)days=(1)

Our website uses cookies to enhance your experience
Accept !