World Animal Day कब और क्यों मनाया जाता है 🐮 Vishv Pashu Diwas का इतिहास | अंतर्राष्ट्रीय पशु दिवस कैसे मनाया जाता है?

0

World Animal Day कब और क्यों मनाया जाता है? अंतर्राष्ट्रीय पशु दिवस कैसे मनाया जाता है? और क्या है Vishv Pashu Diwas का इतिहास? इन सभी के बारे में हम विश्व पशु दिवस की जानकारी हिंदी में देने जा रहे हैं।

World Animal Day 2022: पृथ्वी पर जीवन को बनाए रखने के लिए जानवरों और इंसानों के बीच संतुलन होना बहुत जरूरी है, अगर ऐसा नहीं है तो पृथ्वी पर जीवन असंभव है।

toc
World Animal Day Kab Manaya Jata Hai?
तिथि: हर साल 04 अक्टूबर को मनाया जाता है.
शुरूआत: 1929
उद्देश्य: विश्व पशु दिवस जानवरों की हत्या को रोकने और लोगों के बीच जानवरों के कल्याण और अधिकारों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है।
थीम: 2021- Forests and Livelihoods: Sustaining People and Planet
World Animals Day

विश्व पशु दिवस कब मनाया जाता है?

विश्व पशु दिवस हर साल 4 अक्टूबर को दुनिया भर में मनाया जाता है। दरअसल, इस दिन का मकसद दुनिया भर में जानवरों की स्थिति को बेहतर और सुधार करना है। इस दिन का उद्देश्य पशु कल्याण आंदोलन को एकजुट करना है। इस वर्ष 2021 में, विश्व पशु दिवस 4 अक्टूबर को Forests and Livelihoods: Sustaining People and Planet थीम के साथ मनाया जा रहा है।

विश्व पशु दिवस क्यों मनाया जाता है?

यह एक अंतरराष्ट्रीय दिवस है। इस दिन पशुओं के अधिकारों और उनके कल्याण आदि से जुड़े विभिन्न कारणों की समीक्षा की जाती है। अंतर्राष्ट्रीय पशु दिवस के अवसर पर, जनता को चर्चा में शामिल करना और जानवरों के प्रति क्रूरता, पशु अधिकारों के उल्लंघन आदि जैसे विभिन्न मुद्दों पर जागरूकता पैदा करना है।

विश्व पशु दिवस व्यक्तियों, समूहों और संगठनों के समर्थन और भागीदारी के माध्यम से दुनिया भर में पशु कल्याण मानकों में सुधार के उद्देश्य से मनाया जाता है। यह कई अन्य उद्देश्यों के लिए मनाया जाता है जो इस प्रकार हैं.

  • जानवरों के लिए प्रकृति द्वारा बनाए गए जंगलों को बचाने के लिए.
  • विलुप्त होने के कगार पर मौजूद प्रजातियों को बचाने के लिए.
  • जानवरों के प्रति मानव क्रूरता को रोकने के लिए.
  • पशु चिकित्सा और संरक्षण को बढ़ावा देना।
  • जानवरों की भावनाओं का सम्मान।
  • पशुओं की दशा सुधारने के लिए.
  • वन्यजीवों को नियंत्रित करना।

पहला विश्व पशु दिवस कब मनाया गया था?

विश्व पशु दिवस पहली बार 4 अक्टूबर 1929 को मनाया गया था, इसकी शुरुआत जर्मन लेखक और प्रकाशक हेनरिक ज़िमरमन ने जानवरों के कल्याण के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से की थी।

World Animal Day History

24 मार्च, 1925 को, विश्व पशु दिवस मूल रूप से German writer and activist Heinrich Zimmermann द्वारा आयोजित किया गया था, जो न केवल एक लेखक थे, बल्कि एक मासिक पत्रिका (magazine Mensch und Hund/Man and Dog) भी प्रकाशित करते थे। उन्होंने पशु कल्याण पर अपने विचारों को बढ़ावा देने के लिए पत्रिका का उपयोग एक माध्यम के रूप में किया और विश्व पशु दिवस समिति की स्थापना की।

उन्होंने उस समय के पशु कल्याण के मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए बर्लिन, जर्मनी में स्पोर्ट्स पैलेस में इसका आयोजन किया, और पहले कार्यक्रम में लगभग 5,000 लोगों ने भाग लिया। और यह आयोजन असीसी के सेंट फ्रांसिस के पर्व के साथ हुआ, जो 4 अक्टूबर को था।

आपको बता दें कि असीसी के फ्रांसिस ने अपने आस-पास के जानवरों की दुर्दशा को अपनी आंखों से देखा था और उनका दर्द दूर करना चाहते थे। अगले कुछ वर्षों में, यह आयोजन हर साल आयोजित किया जाने लगा था और 1929 में पहली बार इस कार्यक्रम को 24 मार्च की जगह 4 अक्टूबर को मनाया जाने लगा।

1929 में, यह 4 अक्टूबर को आयोजित किया गया और अंत में मई 1931 में, फ्लोरेंस इटली में अंतर्राष्ट्रीय पशु संरक्षण कांग्रेस ने 4 अक्टूबर को विश्व पशु दिवस के रूप में मनाने का संकल्प अपनाया। तब से, विश्व पशु दिवस जानवरों के कल्याण के लिए पूरी दुनिया में मनाया जाता है।

World Animal Day 2021 Theme

हर साल विश्व पशु दिवस एक खास थीम पर आधारित होता है और इस थीम के जरिए लोगों को जागरूक या किसी खास विषय पर फोकस करना होता है। इस साल World Animal Day 2021 की Theme “Forests and Livelihoods: Sustaining People and Planet” रखी गई है तो वहीं पिछली साल विश्व पशु दिवस 2020 की थीम “Man and Dog” थी।

विश्व पशु दिवस कैसे मनाया जाता है?

विश्व पशु कल्याण दिवस पर जानवरों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए विभिन्न प्रकार के समारोह आयोजित किए जाते हैं - जैसे विश्व पशु कल्याण अभियान, जानवरों के लिए बचाव आश्रयों का उद्घाटन, पशु आश्रयों का निर्माण आयोजन आदि।

विश्व पशु दिवस दुनिया भर में अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है और कई कार्यक्रम भी आयोजित की जाती हैं।

इस दिन कई पशु जागरूकता कार्यक्रम, पशु क्रूरता और उत्पीड़न को रोकने के लिए अभियान चलाया जाता है।

इसके साथ ही पालतू जानवरों को गोद लेने और बेघर जानवरों को आश्रय देने जैसे कार्य भी किए जाते हैं.

इतना ही नहीं, पशु संगठन और जानवरों के लिए बनाए गए अन्य कानूनों और चर्चा आदि के लिए कई सम्मेलनों और सेमिनार भी किये जाते हैं।

पशु दिवस का महत्व

मनुष्य शुरू से ही एक बहुत ही स्वार्थी प्राणी रहा है, जिसने सारी हदें पार कर पृथ्वी का पूरा शोषण भी किया है। आज मनुष्य ने पृथ्वी पर मौजूद कई जानवरों और प्राकृतिक तत्वों के साथ-साथ कई पेड़-पौधों को नष्ट कर दिया है, कई प्रजातियां विलुप्त हो चुकी हैं और कुछ विलुप्त होने के कगार पर हैं।

अगर इन सब को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तो जल्द ही धरती पर इंसान का जीवन भी खत्म हो जाएगा। ऐसे में धरती पर संतुलन बनाए रखने के लिए, पौधों और जानवरों के साथ संतुलन बनाए रखना जरूरी है।

विश्व पशु दिवस का उद्देश्य पशु कल्याण मानकों में सुधार करना और व्यक्तियों और संगठनों का समर्थन प्राप्त करना है। इस दिन का मूल उद्देश्य विलुप्त हो रहे जीवों की रक्षा करना और मनुष्यों के साथ उनके संबंधों को मजबूत करना है।

अंतर्राष्ट्रीय पशु दिवस इस धारणा पर काम करता है कि प्रत्येक जानवर एक अद्वितीय संवेदनशील प्राणी है और इसलिए करुणा और सामाजिक न्याय के साथ व्यवहार करने का हकदार है।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ा है, तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें सुधार किया जाए, तो आप इसके लिए टिप्पणी लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको अच्छी जानकारी देना है, और उसके लिए मुझे स्वयं उस जानकारी की वास्तविकता की जाँच करनी होती है। फिर वह जानकारी इस ब्लॉग पर प्रकाशित की जाती है।

आप इसे यहां नहीं पाएंगे। उदाहरण के लिए-

  • 🛑कंटेंट के बीच में गलत कीवर्ड्स का इस्तेमाल।
  • 🛑एक ही बात को बार-बार लिखना।
  • 🛑सामग्री कम लेकिन डींगे अधिक।
  • 🛑पॉपअप के साथ उपयोगकर्ता को परेशान करना।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो या कुछ सीखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें। लेख को अंत तक पढ़ने के लिए एक बार फिर से दिल से धन्यवाद!🙏

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !