Computer Security Day | कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है कंप्यूटर सुरक्षा दिवस? Data Encryption Kya Hai?

Computer Security Day 2021: नमस्कार दोस्तों, आशा है कि आप इस जानकारी को पढ़कर, विशेष दिन का आनंद ले रहे होंगे। आज का युग इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का युग है। आज स्मार्टफोन, टैबलेट और कंप्यूटर जैसे रोजमर्रा के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का हमारे जीवन में अपना महत्व है। वे हमारे काम को आसान बनाते हैं और वे संचार को भी आसान बनाते हैं.

इनके बिना हमारा सारा काम अधूरा रहता है। एक तरह से इनके बिना हमारा जीवन भी हमें पूरा नहीं लगता। इन चीजों के आने से हमारा जीवन इतना आसान और कुशल हो गया है।

लेकिन साथ ही, इन तकनीकों के कारण हमारे जीवन की गोपनीयता और सुरक्षा को लेकर नई चिंताएं सामने आई हैं। और इसी कारण से, यह दिन आपके ऑनलाइन डेटा को अधिक सुरक्षा प्रदान करने में मदद करने के लिए मनाया जाता है।

{tocify} $title={Table of Contents}
Computer Security Day Kab Manaya Jata Hai?
Date हर साल 30 नवंबर को मनाया जाता है.
विवरण कंप्यूटर सुरक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय कंप्यूटर सुरक्षा दिवस की शुरुआत 1988 में की गई थी और तब से आज तक इस उद्देश्य के लिए अंतर्राष्ट्रीय कंप्यूटर सुरक्षा दिवस मनाया जाता है।
Computer Security Day

कंप्यूटर सुरक्षा दिवस कब मनाया जाता है?

कंप्यूटर सुरक्षा दिवस हर साल 30 नवंबर को मनाया जाता है, इस दिन को कंप्यूटर में व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से मनाया जाता है। यह पहली बार वर्ष 1988 में मनाया गया था।

कंप्यूटर सुरक्षा दिवस क्यों मनाया जाता है?

कंप्यूटर सुरक्षा दिवस मनाने की शुरुआत 1988 में हुई थी। उस समय के आसपास कंप्यूटर एक आम बात थी, हालांकि वे घरों तक नहीं पहुंचते थे। लेकिन 1980 का दशक कंप्यूटर व्यापार और प्रसार का प्रारंभिक चरण था।

हैकिंग और वायरस लगभग आधुनिक कंप्यूटर के शुरुआती दिनों से ही शुरू हो गए थे। उस समय बैंकिंग, सरकारी कार्यालयों और संस्थानों में कंप्यूटर का उपयोग किया जाता था।

जिसका सारा डेटा कंप्यूटर के सर्वर में स्टोर होता था, और उसकी हैकिंग का सीधा मतलब था मूल्यवान जानकारी का लीक होना। इसलिए उस समय ही कंप्यूटर सुरक्षा एक महत्वपूर्ण चिंता का विषय बन गया था।

हैकिंग और वायरस जैसी समस्याओं के तेजी से विकास के साथ-साथ इनके अत्यधिक उपयोग के कारण इनके दुष्प्रभाव भी अधिक दिखाई देने लगे। और यह एक साधारण सी बात हो गई थी कि लोगों का डेटा अधिक जोखिम में था। और इसी कारण से ऑनलाइन सुरक्षा देना भी आजकल एक महत्वपूर्ण और चिंता का विषय बन गया है।

कंप्यूटर साक्षरता के साथ-साथ लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए ही यह कंप्यूटर सुरक्षा दिवस मनाया जाता है। उस समय, कंप्यूटर सुरक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय कंप्यूटर सुरक्षा दिवस की शुरुआत की गई थी और तब से आज तक इस उद्देश्य के लिए अंतर्राष्ट्रीय कंप्यूटर सुरक्षा दिवस मनाया जाता है।

Computer Security Day कैसे मनाया जाता है?

इस दिन आप सभी स्पाइवेयर और मैलवेयर सुरक्षा सॉफ्टवेयर को अपडेट करें। ध्यान रहे अगर किसी वेबसाइट पर जाने पर सॉफ्टवेयर अपडेट करने के लिए बोलै जाये तो, कभी भी गलती क्लिक नहीं करना है.

अगर आप एक कंपनी या बिज़नस के मालिक है तो अपने सभी कर्मचारियों से कंप्यूटर के सभी सिक्योरिटी और जरूरी प्राइवेसी तथा सॉफ्टवेयर्स को अपडेट करने के लिए कहें और खुद भी इस पर ध्यान दें।

अपनी वेबसाइट या फिर फाइल और तस्वीरों या किसी अन्य जरूरी डाटा का बैकअप बनाएं।

कंप्यूटर या फिर टेबलेट मोबाइल को अपने पास मौजूद डाटा को सुरक्षित करें.

अगर आपने अपने बेटा की पासवर्ड बदले हुए कई दिन हो गए हैं तो आज आप ही ने जरूर बदल ले.

और साथ ही अपने क्लाउड डाटा को भी एक बार सुरक्षित महफूज कर ले.

जब भी ऑनलाइन होते हो अपने सारे पासवर्ड को हमेशा मजबूत और नियमित रूप से अपडेट करते रहे.

क्योंकि यह पासवर्ड ही आपके सारे व्यक्तिगत डेटा को किसी गलत हाथ में पड़ने से आप को बचाता है. यदि आपके पास कोई अच्छा सा पासवर्ड ना हो तो आपका डेटा आपको बिना मालूम हुए ही कभी भी चोरी हो सकता है.

पासवर्ड को कठिन से कठिन और अनुमान लगाने के लिए जो मुश्किल हो ऐसा पासवर्ड रखें. आप अपने पासवर्ड में अक्षरों के साथ-साथ अंक एवं सिंबॉल्स का भी उपयोग जरूर करें.

अक्षरों में आप कैपिटल और स्माल दोनों लेटर को जरूर उपयोग करें. और पासवर्ड की लंबाई भी 10 शब्द या उससे जयादा रखने की कोसिस करे. ध्यान रहे मोबाइल नंबर नहीं लिखे.

किसी भी ऑनलाइन खाते को सेव रखने के लिए कभी भी सिर्फ एक ही पासवर्ड का उपयोग ना करें. क्योंकि किसी को अगर आपके एक अकाउंट का पासवर्ड पता हो गया तो वह उसी पासवर्ड को आप बाकी सारे अकाउंट को भी जरूर हैक या गलत उपयोग कर सकता है.

इसी वजह से ऑनलाइन प्रेजेंस या फिर अकाउंट के लिए एक मजबूत का पासवर्ड बनाते हुए उन्हें नियमित रूप से अपडेट करते रहें.

यदि आपको पासवर्ड बदले हुए काफी समय हो गया है तो आज ही समय निकलकर पासवर्ड जरूर बदले. और बाले हुए पासवर्ड को याद रखे.

अगर आप आपने सभी ऑनलाइन अकाउंट में एक जैसे या एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल करते हैं तो आप हैकर (Hackers) की चपेट में आ सकते हैं। आप इस दिन को अपने सभी अकाउंट के पासवर्ड को बदलने या अपडेट करने के लिए मनाएं।

Data Encryption Kya Hai?

एन्क्रिप्शन वह तरीका है जिसके द्वारा डेटा को एक प्रकार के कोड में परिवर्तित किया जाता है, ताकि कोई भी उस डेटा को पढ़ या समझ न सके। Data Encryption वित्तीय संस्थान और व्यवसाय जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए इस एन्क्रिप्शन विधि का उपयोग करते हैं।

Advanced Encryption Standard (AES)

AES एक symmetric encryption algorithm है और सबसे सुरक्षित में से एक है। सरकार अपनी डाटा की सुरक्षा के लिए इसका उपयोग करती है, और कई सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर उत्पाद भी इसका उपयोग करते हैं। यह विधि एक block cipher का उपयोग करती है, जो अन्य प्रकार के एन्क्रिप्शन के विपरीत, एक बार में एक निश्चित आकार के ब्लॉक को एन्क्रिप्ट करती है, जैसे कि stream ciphers, जो डेटा को data bit by bit एन्क्रिप्ट करता है।

AES में AES-128, AES-192 और AES-256 शामिल हैं। प्रमुख बिट आप 128 बिट्स, 192 बिट्स इत्यादि में एनक्रिप्ट और डिक्रिप्ट ब्लॉक को चुनते हैं। प्रत्येक बिट के लिए अलग-अलग राउंड होते हैं। एक राउंड प्लेनटेक्स्ट को cipher टेक्स्ट में बदलने की प्रक्रिया है। 128-बिट के लिए, 10 राउंड हैं; 192-बिट में 12 राउंड हैं; और 256-बिट में 14 राउंड हैं।

चूंकि एईएस एक symmetric key encryption है, इसलिए आपको एन्क्रिप्ट किए गए डेटा तक पहुंचने के लिए अन्य व्यक्तियों के साथ कुंजी साझा करना होगा। यदि आप उस डाटा को एक सुरक्षित तरीके के साथ दूसरे व्यक्तियों को साझा नहीं करते है, तो वे उस एन्क्रिप्टेड डाटा को डिक्रिप्ट कर सकते हैं।

Triple Data Encryption Standard (3DES)

Triple Data Encryption Standard एक block cipher है। यह एन्क्रिप्शन की पुरानी पद्धति, डेटा एन्क्रिप्शन स्टैंडर्ड के समान है, जिसमें 56-बिट कुंजियों का उपयोग किया जाता है। हालाँकि, 3DES एक symmetric-key encryption है जो तीन व्यक्तिगत 56-बिट कुंजियों का उपयोग करता है।

यह तीन बार डेटा को एन्क्रिप्ट करता है, जिसका अर्थ है कि आपकी 56-बिट कुंजी 168-बिट कुंजी बन जाती है। चूंकि यह तीन बार डेटा को एन्क्रिप्ट करता है, इसलिए यह विधि दूसरों की तुलना में बहुत धीमी है। 3DES छोटी ब्लॉक लंबाई का उपयोग करता है, इसलिए डेटा को डिक्रिप्ट और लीक करना आसान है।

हालांकि, कई लोग वित्तीय संस्थान और व्यवसाय जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए इस एन्क्रिप्शन विधि का उपयोग करते हैं। इससे अधिक मजबूत एन्क्रिप्शन पद्धतियां आने के कारण यह धीरे-धीरे समाप्त हो रहा है।

Twofish

Twofish एक symmetric block cipher है जो पहले के ब्लॉक सिफर - ब्लोफिश पर आधारित है। Twofish में ब्लॉक-बिट का आकार 128-बिट्स से 256 बिट्स है, और यह छोटे CPU और हार्डवेयर पर अच्छा काम करता है। एईएस के समान, यह plaintext को cipher text में बदलने के लिए एन्क्रिप्शन के राउंड को लागू करता है। हालाँकि, इसमें राउंड की संख्या 16 होते हैं, जो एईएस से भिन्न होती है.

इसके अलावा, यह विधि काफी लचीलापन प्रदान करती है। आप कुंजी सेटअप धीमा लेकिन एन्क्रिप्शन प्रक्रिया के लिए त्वरित होने के लिए चुन सकते हैं । इसके अलावा, एन्क्रिप्शन का यह रूप असंगत और लाइसेंस मुक्त है, इसलिए आप इसे प्रतिबंधों के बिना उपयोग कर सकते हैं।

RSA

इस asymmetric algorithm का नाम Ron Rivest, Len Adelman and Adi Shamir के नाम पर रखा गया है। यह असुरक्षित नेटवर्क पर डेटा साझा करने के लिए सार्वजनिक-कुंजी क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करता है। दो कुंजी हैं: एक सार्वजनिक और एक निजी। सार्वजनिक कुंजी नाम के अनुसार ही है: सार्वजनिक।

कोई भी इसे एक्सेस कर सकता है। हालांकि, निजी कुंजी गोपनीय होनी चाहिए। RSA क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करते समय, आपको संदेश को एन्क्रिप्ट और डिक्रिप्ट करने के लिए दोनों कीज़ की आवश्यकता होती है। आप अपने डेटा को एन्क्रिप्ट करने के लिए एक कुंजी का उपयोग करते हैं और दूसरा इसे डिक्रिप्ट करने के लिए।

खोज सुरक्षा के अनुसार, आरएसए सुरक्षित है क्योंकि यह large integers का factors है जो दो prime numbers का प्रोडक्ट है। इसके कुंजी का आकार बड़ा है, जो सुरक्षा बढ़ाता है। अधिकांश आरएसए कुंजियाँ 1024-बिट्स और 2048-बिट्स हैं। हालाँकि, लंबा कुंजी आकार अन्य एन्क्रिप्शन विधियों की तुलना में धीमा है।

इसके अलावा कई अतिरिक्त एन्क्रिप्शन विधियां उपलब्ध हैं.

Editor

नमस्कार!🙏 मेरा नाम सरोज कुमार (वर्मा) है। और मुझे यात्रा करना, दूसरी जगह की संस्कृति को जानना पसंद है। इसके साथ ही मुझे ब्लॉग लिखना, और उस जानकारी को ब्लॉग के माध्यम से दूसरों के साथ साझा करना भी पसंद है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ा है, तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें सुधार किया जाए, तो आप इसके लिए टिप्पणी लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको अच्छी जानकारी देना है, और उसके लिए मुझे स्वयं उस जानकारी की वास्तविकता की जाँच करनी होती है। फिर वह जानकारी इस ब्लॉग पर प्रकाशित की जाती है।

आप इसे यहां नहीं पाएंगे। उदाहरण के लिए-

  • 🛑कंटेंट के बीच में गलत कीवर्ड्स का इस्तेमाल।
  • 🛑एक ही बात को बार-बार लिखना।
  • 🛑सामग्री कम लेकिन डींगे अधिक।
  • 🛑पॉपअप के साथ उपयोगकर्ता को परेशान करना।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो या कुछ सीखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें। लेख को अंत तक पढ़ने के लिए एक बार फिर से दिल से धन्यवाद!🙏