World Laughter Day Date | Vishv Haasy Diwas कैसे मनाया जाता है | विश्व हास्य दिवस मनाने के फायदे

World Laughter Day हर साल मई के पहले रविवार को पूरी दुनिया में खुशियां फैलाने के लिए मनाया जाता है। Vishv Haasy Diwas कैसे मनाया जाता है, विश्व हास्य दिवस मनाने के फायदे तथा शुरुआत कैसे हुई? विश्व हँसी दिवस के इतिहास, महत्व और हँसी के स्वास्थ्य लाभों पर एक विस्तृत नज़र डालें।

इसे मनाने का मकसद समाज के बढ़ते तनाव को कम करना और उन्हें सुखी जीवन जीना सिखाना था। तभी से हर साल मई के पहले रविवार को लाफ्टर डे मनाया जाता है।

{tocify} $title={Table of Contents}
World Laughter Day Kab Manaya Jata Hai?
Date हर साल मई महीने के पहले रविवार को मनाया जाता है। तारीख बदल जाती है लेकिन महीना वही रहता है।
विवरण हंसना एक अच्छी एक्सरसाइज है वहीं हँसाना एक कला है। हंसी जिंदगी के लिए जरूरी है और मजाक हंसने के लिए जरूरी है।
Laughter Comedian Film Star Vijay Raaz, Johnny Lever, Sanjay Mishra, Rajpal Yadav and Paresh Rawal

इस दिन को मनाने का साफ मकसद लोगों को हंसाना है। हंसना एक अच्छी एक्सरसाइज है वहीं हँसाना एक कला है। पुराने जमाने में जहां लोगों को हंसाने की जिम्मेदारी चंद कॉमेडियन तक ही सीमित थी, वहीं आज के समय में बॉलीवुड के नामी सितारे और यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया पर कई लोग भी कॉमेडी में हाथ आजमा रहे हैं.

पूरे देश में 1 जुलाई को इंटरनेशनल डॉक्टर डे मनाया जाता है। डॉक्टर न केवल हमें दवा की मदद से ठीक करते हैं बल्कि बिना दवा के भी ठीक हो सकते हैं। क्योंकि कहा जाता है कि हँसी सबसे अच्छी दवा है.

शोध के अनुसार, हास्य लोगों को उनके मनोवैज्ञानिक तनाव से निपटने में मदद करता है।

आज दुनिया में हर किसी को कोई न कोई दर्द महसूस हुआ होगा।" किसी को रोटी की चिंता है तो किसी को उसकी जिंदगी का दर्द। दर्द जो भी हो, चेहरे पर मुस्कान उस दर्द को कम करने का सबसे आसान और सही तरीका है।

हंसी को दुनिया की सबसे असरदार दवा भी माना जाता है। लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि यह फ्री में उपलब्ध है। वैसे तो हंसने के कई कारण होते हैं, लेकिन सबसे आसान तरीका है मजाक करना।

World Laughter Day का इतिहास

विश्व हास्य दिवस की शुरुआत वर्ष 1998 में हुई थी। इस दिन को लागू करने का श्रेय हास्य योग आंदोलन के संस्थापक डॉ मदन कटारिया को जाता है। उन्होंने 11 जनवरी 1998 को पहली बार मुंबई में वर्ल्ड लाफ्टर डे मनाया।

डॉ. मदन कटारिया द्वारा की गई थी, जो दुनिया भर में लाफ्टर योग आंदोलन के संस्थापक थे। कटारिया, भारत में एक पारिवारिक चिकित्सक, चेहरे की प्रतिक्रिया परिकल्पना के हिस्से में लाफ्टर योग आंदोलन शुरू करने के लिए प्रेरित थे, जो यह बताता है कि किसी व्यक्ति के चेहरे के भाव उनकी भावनाओं पर प्रभाव डाल सकते हैं।

इसे मनाने का मकसद समाज के बढ़ते तनाव को कम करना और उन्हें सुखी जीवन जीना सिखाना था। तभी से हर साल मई के पहले रविवार को लाफ्टर डे मनाया जाता है।

हंसने से तन और मन में जोश पैदा होता है और दिल से हंसना किसी दवा से कम नहीं है। यह एक बेहतरीन टॉनिक का काम करता है। इसीलिए आज अलग-अलग जगहों पर कॉमेडी क्लब बन रहे हैं, ताकि व्यस्त जीवन में तनाव से मुक्ति मिले।

विश्व हंसी दिवस का उत्सव विश्व शांति की सकारात्मक अभिव्यक्ति है और इसका उद्देश्य हंसी के माध्यम से भाईचारे और दोस्ती की वैश्विक चेतना का निर्माण करना है।

Vishv Haasy Diwas कैसे मनाया जाता है?

इस दिन का खास महत्व है सभी अपनी समस्याओं को दूर रखते हुए लोगों के साथ फनी जोक्स, वीडियो शेयर करना ताकि हर कोई हंस सके। आज के दौर में हर व्यक्ति किसी न किसी समय परेशान रहता है और हंसी में खो जाना इन समस्याओं से निजात पाने का एक अच्छा तरीका है।

इस दिन को अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है

इस दिन लोग अपने समूहों में इकट्ठा होते हैं, हंसी क्लबों में जाते हैं और एक साथ जोर से हंसते हैं।

इसके लिए कॉमेडी फिल्मों, तस्वीरों और अन्य माध्यमों का भी इस्तेमाल किया जाता है।

इसके अलावा, पार्कों और सार्वजनिक सभा स्थलों में लाफिंग योगा का अभ्यास किया जाता है।

यह अक्सर हंसने के एकमात्र उद्देश्य से सार्वजनिक स्थानों पर लोगों के इकट्ठा होने से मनाया जाता है। इसकी लोकप्रियता तेजी से बढ़ी है।

चुटकुलों और व्यंग्य के छोटे-छोटे पोस्ट अक्सर हमें बिना किसी झिझक के हंसाते हैं दुनिया में हजारों चुटकुले हैं।

आज के दौर में हर व्यक्ति परेशान है और अपनी मानसिक परेशानी से निजात पाने के लिए किसी के साथ बैठकर मजाक करें या कोई ऐसी शरारत करें जिससे वह खुश हो जाए.

इसीलिए पूरी दुनिया में हर कोई हंसना चाहता है। और कॉमेडी करता है या चुटकुले सुनाता है जिसमें हंसने के नए-नए तरीके आजमाए जाते हैं।

हंसी-मजाक के इस रिश्ते को पहचानते हुए हर साल World Laughter Day के रूप में मनाया जाता है।

हास्य एक प्रदर्शन है जिसमें विशिष्ट और अच्छी तरह से परिभाषित शब्दों का उपयोग लोगों को एक कथा संरचना में हंसाने के लिए किया जाता है।

इस दिन लोग अपने परिवार, दोस्तों और अन्य लोगों के साथ मजाक करते हैं। दिन का मुख्य उद्देश्य उन लोगों के साथ हंसी और मुस्कान साझा करना है जिन्हें आप प्यार करते हैं।

इस दिन लोग अपने दोस्तों और करीबियों को खुशियां बांटते हैं। लोग लाफ्टर क्लब जाते हैं.

लोग एक साथ इकट्ठे होते है और एक साथ हँसते हैं। हंसने के लिए कॉमेडी तस्वीरें देख सकते हैं या मनोरंजन के लिए प्रसिद्ध हास्य कलाकारों को सुन सकते हैं।

कॉमेडियन बनने के लिए लोग कॉमेडी एक्ट्स में भी शामिल होते हैं और इम्प्रोवाइजेशन क्लासेस में भी हिस्सा लेते हैं।

कुछ लोग वर्ल्ड लाफ्टर डे हैशटैग रखकर सोशल मीडिया पर फनी जोक्स शेयर करते हैं।

कॉमेडी और मनोरंजन से भरपूर दोस्तों के साथ फिल्में देखते हैं.।

यहां तक कि लोग किसी पार्क में इकट्ठा होते हैं और हंसते हुए योगाभ्यास करते हैं।

कुछ लोग हँसी के संक्रामक प्रभावों को फैलाने के लिए "HO, HO, HA, HA" जैसी ध्वनियाँ उत्पन्न करते हैं।

विश्व हास्य दिवस मनाने के फायदे

क्या आप जानते हैं कि हंसते समय हम बात करते समय जितनी ऑक्सीजन लेते हैं उससे छह गुना अधिक ऑक्सीजन लेते हैं. इस तरह शरीर को अच्छी मात्रा में ऑक्सीजन मिलती है।

मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि जब आप मुस्कुराते हैं तो आपका दिमाग अपने आप यह सोचने लगता है कि आप खुश हैं - यह प्रक्रिया पूरे शरीर में प्रवाहित होती है और आप आराम महसूस करने लगते हैं।

हंसी को अपनी आदतों में शामिल करें और फिर देखें कि तनाव आपके पास से हमेशा के लिए निकल जायेगा, साथ ही आपकी सेहत भी अच्छी रहेगी।

जब आप हंसने लगते हैं तो शरीर में रक्त का संचार तेजी से होता है। तनाव में भी हंसने की क्षमता हो तो दुख भी कम लगता है।

शोध के अनुसार, जो लोग जितना हंसते हैं, उनके आसपास हमेशा बहुत सारे लोग होते हैं क्योंकि वे सकारात्मक ऊर्जा लेते हैं।

कहा जाता है कि इंसान जितना हंसता है, उसका सेंस ऑफ ह्यूमर उतना ही बेहतर होता है।

हंसने के बाद आप कभी थकान महसूस नहीं करेंगे और सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव करेंगे।

जानिए क्यों लगाए हंसी के ठहाके?

  • हंसने के फायदे भी कई हैं, जैसे- हंसते समय गुस्सा नहीं आता हैं।
  • मनोवैज्ञानिक भी तनाव से पीड़ित लोगों को हंसते रहने की सलाह देते हैं।
  • आप जितने खुश रहेंगे, आपका तनाव का स्तर उतना ही कम होगा।
  • हंसने से रक्त संचार बेहतर होता है और फेफड़े स्वस्थ रहते हैं।
  • हंसने से आत्मसंतुष्टि के साथ-साथ सुखद अनुभूति भी होती है।
  • यह दिमाग के साथ-साथ शरीर का भी व्यायाम करता है।
  • हंसने से मांसपेशियों का तनाव कम होता है।
  • शरीर में एक नई ऊर्जा का संचार होता है।
  • हंसने से मन में उत्साह पैदा होता है।
  • हंसने से दर्द दूर होता है
Editor

नमस्कार!🙏 मेरा नाम सरोज कुमार (वर्मा) है। और मुझे यात्रा करना, दूसरी जगह की संस्कृति को जानना पसंद है। इसके साथ ही मुझे ब्लॉग लिखना, और उस जानकारी को ब्लॉग के माध्यम से दूसरों के साथ साझा करना भी पसंद है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ा है, तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें सुधार किया जाए, तो आप इसके लिए टिप्पणी लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको अच्छी जानकारी देना है, और उसके लिए मुझे स्वयं उस जानकारी की वास्तविकता की जाँच करनी होती है। फिर वह जानकारी इस ब्लॉग पर प्रकाशित की जाती है।

आप इसे यहां नहीं पाएंगे। उदाहरण के लिए-

  • 🛑कंटेंट के बीच में गलत कीवर्ड्स का इस्तेमाल।
  • 🛑एक ही बात को बार-बार लिखना।
  • 🛑सामग्री कम लेकिन डींगे अधिक।
  • 🛑पॉपअप के साथ उपयोगकर्ता को परेशान करना।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो या कुछ सीखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें। लेख को अंत तक पढ़ने के लिए एक बार फिर से दिल से धन्यवाद!🙏