International Joke Day Date | अंतर्राष्ट्रीय मजाक दिवस क्यों मनाया जाता है | Majaak Divas, जोक, चुटकुले, हंसने के फायदे

International Joke Day कब मनाया जाता है? अंतर्राष्ट्रीय मजाक दिवस कैसे मनाया जाता है? Majaak divas का इतिहास अंतर्राष्ट्रीय जोक दिवस की शुरुआत कैसे हुई और हंसने के क्या फायदे हैं? और कुछ मसालेदार चुटकुले भी लिखे गए हैं। जो शायद आपके चेहरे पर मुस्कान ला दे। चलिए शुरू करते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय मजाक दिवस की शुरुआत आधिकारिक तौर पर संयुक्त राज्य अमेरिका में हुई थी, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय मजाक दिवस की उत्पत्ति जो भी हो, यह स्पष्ट है कि चुटकुले कई सदियों से चल रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय चुटकुले दिवस दुनिया में हंसी फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता है। इस दिन दुनिया में लोग जोक्स शेयर करते हैं और अपने दोस्तों और करीबियों को खुशियां बांटते हैं।

International Joke Day Kab Manaya Jata Hai?
Date हर साल 1 July को
विवरण हँसी सबसे अच्छी दवा है. इस दिन सभी लोग समस्याओं को दूर रखकर लोगों के साथ मजेदार चुटकुले, वीडियो साझा करते हैं.
International Joke Day Yellow Smile Emoji

अंतर्राष्ट्रीय मजाक दिवस क्यों मनाया जाता है?

कहा जाता है कि हँसी सबसे अच्छी दवा है. इन्हीं कारणों को ध्यान में रखते हुए 1 जुलाई को पूरी दुनिया में इंटरनेशनल जोक डे मनाया जाता है। इसलिए इस दिन सभी समस्याओं को दूर रखकर लोगों के साथ मजेदार चुटकुले, वीडियो साझा करे ताकि हर कोई हंस सके।

आज के दौर में हर व्यक्ति किसी न किसी समय परेशान रहता है और हंसी में खो जाना इन समस्याओं से निजात पाने का एक अच्छा तरीका है। इस दिन लोग अपने परिवार, दोस्तों और अन्य लोगों के साथ मजाक करते हैं।

दिन का मुख्य उद्देश्य उन लोगों के साथ हँसी और मुस्कान साझा करना है जिन्हें आप प्यार करते हैं। शोध के अनुसार, हास्य लोगों को उनके मनोवैज्ञानिक तनाव से निपटने में मदद करता है।

आज के दौर में हर व्यक्ति परेशान है और अपनी मानसिक परेशानी से निजात पाने के लिए किसी के साथ बैठकर मजाक करता है या कोई शरारत करता है, जिससे वह खुश हो जाता है, इसीलिए पूरी दुनिया में हर कोई हंसता और मजाक करता है। कॉमेडी करता है या चुटकुले सुनाता है।

दुनिया में आज हर व्यक्ति को कोई न कोई दर्द जरूर होता है। किसी को रोटी की चिंता है तो किसी को अपनी जिंदगी का दर्द। दर्द कुछ भी हो, चेहरे पर मुस्कान उस दर्द को कम करने का सबसे आसान और सही तरीका है।

अक्सर चुटकुले हमारी हंसी का कारण बन जाते हैं। हंसी जिंदगी के लिए जरूरी है और मजाक हंसने के लिए जरूरी है।

इन्हीं कारणों को ध्यान में रखते हुए 1 जुलाई को पूरी दुनिया में जोक डे मनाया जाता है, जिसमें हंसने के नए-नए तरीके आजमाए जाते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय मजाक दिवस कैसे मनाया जाता है?

जश्न मनाने के कई विकल्प हैं, आप बस किसी सहकर्मी या मित्र, या सड़क पर किसी अजनबी को कुछ चुटकुले सुना सकते हैं, जिन्हें अपने दिन में सबसे अधिक उल्लास की आवश्यकता होती है।

दोस्तों को चुटकुला सुनाने वाली पार्टी में बारी-बारी से चुटकुले सुनाने या किसी जोक बुक या ऑनलाइन स्रोत से उन्हें पढ़ने के लिए आमंत्रित करें।

एक चुटकुला या हास्य एक प्रदर्शन है जिसमें विशिष्ट और अच्छी तरह से परिभाषित शब्दों का उपयोग लोगों को एक कथा संरचना में हंसाने के लिए किया जाता है।

यह एक शब्द या दूसरे व्यक्ति का नक़ल करके उपयोग किया जा सकता है, जैसे विचलन, तार्किक असंगति, बकवास, या अन्य तरीकों से।

वैसे तो हंसी को दुनिया की सबसे कारगर दवा भी माना जाता है, लेकिन इसकी सबसे बड़ी बात यह है कि यह मुफ्त में उपलब्ध है। वैसे तो हंसने के कई बहाने होते हैं, लेकिन सबसे आसान तरीका है मजाक।

चुटकुले और व्यंग्य के छोटे-छोटे पोस्ट अक्सर बिना किसी झिझक के हमारी हंसी उड़ा देते हैं। दुनिया में हजारों तरह के चुटकुले हैं। कुछ एक विशिष्ट व्यक्ति पर आधारित होते हैं और कुछ एक विशेष समुदाय पर आधारित होते हैं।

अंतरराष्ट्रीय मजाक दिवस की शुरुआत कैसे हुई

अंतर्राष्ट्रीय मजाक दिवस का इतिहास 90 के दशक के मध्य का है। कई रिपोर्टों से पता चलता है कि एक अमेरिकी लेखक वेन रीनागल (Wayne Reinagel) ने इस दिन के बारे में वर्ष 1994 में सोचा था। उन्होंने अपनी पुस्तकों को बढ़ावा देने के लिए इस दिन को बनाया था। वेन इस दिन का इस्तेमाल अपने चुटकुलों की किताब के प्रचार के लिए करते थे। जिसमें जोक्स, कार्टून, मीम्स थे।

हंसने के फायदे

😅शोध के अनुसार, जो लोग हंसते हैं, उनके आसपास हमेशा बहुत सारे लोग होते हैं क्योंकि वे सकारात्मक ऊर्जा लेते हैं।

😆हंसने के बाद आप कभी थकान महसूस नहीं करेंगे और सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव करेंगे।

🤣कहा जाता है कि इंसान जितना हंसता है, उसका सेंस ऑफ ह्यूमर उतना ही बेहतर होता है।

😂आप जितने खुश रहेंगे, आपका तनाव का स्तर उतना ही कम होगा।

😁हंसने से रक्त संचार बेहतर होता है और फेफड़े स्वस्थ रहते हैं।

मसालेदार चुटकुले शायद आपके चेहरे पर मुस्कान ला दे

हवलदार:- सर कल रात सभी कैदियों ने जेल में रामायण प्ले किया था।
जेलर:- ये तो अच्छी बात है, इसमें इतना परेशान क्यों हो रहे हो?
हवलदार:- सर परेशानी ये है कि हनुमान बना कैदी अभी तक 'संजीवनी लेकर वापस नही आया।

बाप ने देखा कि बेटा जीन्स के पेंट का बटन टांक रहा था.
बाप:- बेटा, हमने तुम्हारा विवाह कराया, बहू घर आयी, फिर भी तुम अपनी पेंट पर खुद ही बटन टांक रहे हो?”
बेटा:- पिताजी, आप गलत सोच रहे हैं. यह जीन्स उसी की है.

पिता जी बेहोश.

पति नहाते हुए सिर पर शैम्पू लगाने के साथ साथ कन्धे पर भी लगा रहा था
पत्नी बोली:- पागल हो गए हो शैम्पू कन्धे पर क्यों लगा रहे हो
पति:- पागल तू तेरा बाप, अनपढ़ जाहिल गवार पता है

शैम्पू कौन सा है … Head & shoulder

एक बार एक सास अपने 3 दामादों का प्यार देखने के लिए दरिया में कूद गयी तो
एक दामाद ने बचा लिया। सास ने उसे कार तोहफे में दे दी।
अगले दिन फिर कूद गयी तो दूसरे दामाद ने बचा लिया उसे मोटरसाइकिल मिली।
फिर तीसरे दिन सास दोबारा कूदी तो तीसरे दामाद ने सोचा कि अब तो साइकिल ही मिलेगी तो उसने सास को नही बचाया, सास मर गयी लेकिन फिर भी दामाद को मर्सिडीज़ मिली।
कैसे?

ससुर ने दी।

बचपन में डराया जाता था कि मेंढक को पत्थर मारोगे तो गूंगी पत्नी मिलेगी.
कितना डरते थे तब… अब लगता है काश मार ही दिया होता.

यह राजनीति पर बनाया गया एक तरह का मजाक है। जो जागरूकता के साथ लोगों को हंसाने का काम भी कर रहा है.

सीता से प्रेम करते तो राम बन जाते।
राधा से प्रेम करते तो श्याम बन जाते।
जबरदस्ती प्यार किया तो आशाराम बन गये.
चुपके चुपके प्यार किया तो बाबा राम रहीम बन गए.
कीसी से प्यार नहीं किया तो बाबा रामदेव बन गए.
प्यार किया पर रास्ते में छोड़दिया तो PM बन गये.

Editor

नमस्कार!🙏 मेरा नाम सरोज कुमार (वर्मा) है। और मुझे यात्रा करना, दूसरी जगह की संस्कृति को जानना पसंद है। इसके साथ ही मुझे ब्लॉग लिखना, और उस जानकारी को ब्लॉग के माध्यम से दूसरों के साथ साझा करना भी पसंद है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ा है, तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें सुधार किया जाए, तो आप इसके लिए टिप्पणी लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको अच्छी जानकारी देना है, और उसके लिए मुझे स्वयं उस जानकारी की वास्तविकता की जाँच करनी होती है। फिर वह जानकारी इस ब्लॉग पर प्रकाशित की जाती है।

आप इसे यहां नहीं पाएंगे। उदाहरण के लिए-

  • 🛑कंटेंट के बीच में गलत कीवर्ड्स का इस्तेमाल।
  • 🛑एक ही बात को बार-बार लिखना।
  • 🛑सामग्री कम लेकिन डींगे अधिक।
  • 🛑पॉपअप के साथ उपयोगकर्ता को परेशान करना।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो या कुछ सीखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें। लेख को अंत तक पढ़ने के लिए एक बार फिर से दिल से धन्यवाद!🙏