National Sports Day कब मनाया जाता है | राष्ट्रीय खेल दिवस का महत्व 🏑Raashtreey Khel Divas से जुड़ी ट्रॉफी 🏆मेजर ध्यानचंद के बारे में।

हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन को चिह्नित करने के लिए हर साल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस (National Sports Day ) मनाया जाता है। इस दिन देश के राष्ट्रपति राजीव गांधी खेल रत्न, अर्जुन और द्रोणाचार्य पुरस्कार नामांकित व्यक्तियों को प्रदान करते हैं।

सभी आयु वर्ग के लोग मैराथन, कबड्डी, बास्केटबॉल, हॉकी आदि खेलों में भाग लेते हैं। यह दिन न केवल लोगों के लिए मनोरंजन का काम करता है बल्कि व्यक्ति के जीवन में खेलों की भूमिका के बारे में जागरूकता भी फैलाता है।

युवा पीढ़ी की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा को पहचानने के लिए इस दिन विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। यह कहना भी प्रासंगिक है कि शारीरिक गतिविधियों का उपयोग कई देशों द्वारा सांस्कृतिक गतिविधियों के रूप में किया जाता है। इससे यह भी साफ हो जाता है कि खेल की धुन और खेल का कॉन्सेप्ट दिमाग से कभी नहीं निकल सकता।

अलग-अलग देश अपने इतिहास और तारीखों के अनुसार अलग-अलग तारीखों पर अपना राष्ट्रीय खेल दिवस मनाते हैं जो उनकी खेल समिति द्वारा घोषित किया गया है।

राष्ट्रीय खेल दिवस कब मनाया जाता है? Bharat Me
Diwas Ka Naam राष्ट्रीय खेल दिवस (National Sports Day)
Date हर साल 29 August को Major Dhyan Chand के जन्मदिवस के दिन.
विवरण राष्ट्रीय खेल दिवस महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती पर मनाया जाता है।
ध्यानचंद पुरस्कार ध्यानचंद पुरस्कार खेल के क्षेत्र में दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है।
National Sports Day and Hockey Player Major Dhyan Chand Image

राष्ट्रीय खेल दिवस कैसे मनाया जाता है?

राष्ट्रीय खेल दिवस विशेष रूप से दुनिया भर के शैक्षणिक संस्थानों और खेल अकादमियों में मनाया जाता है। भारत में दो राज्यों, पंजाब और हरियाणा से आने वाले अधिक खिलाड़ियों के साथ राष्ट्रीय खेल दिवस मनाना आम बात है।

राष्ट्रीय खेल दिवस विभिन्न प्रकार के खेलों और कार्यक्रमों का आयोजन करके मनाया जाता है। इनमें फुटबॉल, क्रिकेट, लॉन टेनिस, वॉलीबॉल, मैराथन, बास्केटबॉल आदि शामिल हैं। भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस पर हर साल 29 अगस्त को भारतीय खिलाड़ियों का एक विशेष पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया जाता है।

अर्जुन पुरस्कार, राजीव गांधी खेल रत्न और द्रोणाचार्य पुरस्कार भारत के राष्ट्रपति द्वारा एक वर्ष के दौरान सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को दिए जाते हैं। ध्यानचंद पुरस्कार भारत में खेलों में आजीवन उपलब्धि के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च पुरस्कार है।

मुख्य रूप से देश भर के सभी स्कूल इस दिन अपना वार्षिक खेल दिवस मनाते हैं। यह छोटे बच्चों के मन में खेल के प्रति श्रद्धा और विस्मय की भावना को प्रज्वलित करने के उद्देश्य से किया जाता है और इस प्रकार उन्हें न केवल भारत के सबसे महत्वपूर्ण खेलों में से एक के बारे में शिक्षा प्रदान करता है बल्कि विभिन्न देशों के सभी खिलाड़ियों के बारे में शिक्षा प्रदान करता है।

हॉकी के महान जादूगर ध्यानचंद को याद करने के साथ ही राष्ट्रीय खेल दिवस पर युवाओं से अपेक्षा की जाती है कि वे एक दिन न केवल अपना नाम ऊंचा करें बल्कि अपने देश का नाम भी ऊंचा करें। राष्ट्रीय खेल दिवस स्वस्थ जीवन शैली का समर्थन करता है और खेल समिति के एजेंडे पर जोर देता है ताकि अधिक से अधिक लोगों की खेल तक पहुंच हो सके।

मेजर ध्यानचंद के बारे में

मेजर ध्यानचंद एक भारतीय फील्ड हॉकी खिलाड़ी थे जिन्हें व्यापक रूप से खेल के इतिहास में सबसे महान में से एक माना जाता था। वह 1928, 1932 और 1936 में तीन ओलंपिक स्वर्ण पदक अर्जित करने के अलावा, अपने असाधारण गोल-स्कोरिंग कारनामों के लिए जाने जाते थे. विकिपीडिया

  • Born: 29 August 1905, Prayagraj
  • Died: 3 December 1979, All India Institute of Medical Sciences, New Delhi
  • Full Name: Dhyan Singh
  • Award: Padma Bhushan
  • Medal: Field hockey at the 1936 Summer Olympics - Men's tournament

मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता है। उनका जन्म 29 अगस्त 1905 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले प्रयागराज में हुआ था। उन्हें हॉकी के महानतम खिलाड़ी के रूप में याद किया जाता है।

ध्यानचंद ने अपने करियर में 400 से ज्यादा गोल किए। भारत सरकार ने 1956 में ध्यानचंद को देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया।

उन्हें हॉकी का जादूगर कहने की वजह उनका मैदान पर प्रदर्शन है। उन्होंने वर्ष 1928, 1932 और 1936 में तीन ओलंपिक स्वर्ण पदक जीते।

1928 में पहली बार ओलंपिक खेलने गए ध्यानचंद ने इस पूरे टूर्नामेंट में अपनी हॉकी का ऐसा जादू दिखाया कि विरोधी टीमें देखकर डरने लगीं। 1928 में नीदरलैंड में खेले गए ओलंपिक में ध्यानचंद ने 5 मैचों में 14 गोल किए और भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता।

भारत ने लॉस एंजिल्स में 1932 के ओलंपिक में जापान के खिलाफ अपना पहला मैच 11-1 से जीता था। इतना ही नहीं इस टूर्नामेंट के फाइनल में भारत ने यूएसए को 24-1 से हराकर एक विश्व रिकॉर्ड बनाया जो बाद में वर्ष 2003 में टूट गया। भारत एक बार फिर इस ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता बना।

साल 1936 - ध्यानचंद की कप्तानी में बर्लिन पहुंची भारतीय टीम से एक बार फिर गोल्ड की उम्मीद थी। भारतीय टीम इस टूर्नामेंट में भी उम्मीदों पर खरी उतरी और विरोधी टीमों को हराकर फाइनल में पहुंची।

फाइनल में भारत का सामना जर्मनी की जर्मन चांसलर एडोल्फ हिटलर की टीम से होना था। इस मैच को देखने खुद हिटलर भी पहुंचे थे। हालांकि इस मैच से पहले भारतीय टीम तनाव में थी क्योंकि भारतीय टीम को पहले मैच में जर्मनी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था।

लेकिन मैदान पर उतरने के बाद मैच के पहले हाफ में जर्मनी ने भारत को एक भी गोल नहीं करने दिया. इसके बाद दूसरे हाफ में भारतीय टीम ने एक के बाद एक गोल करना शुरू किया और जर्मनी को चौका दिया। हालांकि, जर्मनी दूसरे हाफ में भी एक गोल करने में सफल रहा, जो इस ओलंपिक में भारत के खिलाफ एकमात्र गोल था।

मेजर ध्यानचंद ने अपना आखिरी मैच साल 1948 में खेला था और अपने पूरे कार्यकाल में 400 से ज्यादा गोल किए थे। जो एक रिकॉर्ड है।

मेजर ध्यानचंद को भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा गया। उन्हें साल 1956 में पद्म भूषण से नवाजा गया था। आज भी कोई खिलाड़ी उस रिकॉर्ड तक नहीं पहुंचा है। इस महान खिलाड़ी की याद में आज राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Flipkart Hockey Stick price Buy Now

राष्ट्रीय खेल दिवस क्या महत्व है?

राष्ट्रीय खेल दिवस का महत्व असीमित है। यह न केवल इस दिन को मनाने के बारे में है बल्कि पूरे देश में खेल और खेल की भावना का जश्न मनाने के बारे में है। इस दिन के महत्व को उजागर करने और खेल के प्रति जनता का ध्यान आकर्षित करने के लिए है।

ऐसे दिन युवाओं को पहचान देते हैं, रोजगार प्रदान करते हैं और विभिन्न प्रतियोगिताओं में भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन के बारे में जागरूकता पैदा करते हैं। देश के खेल प्रशंसक सभी विभिन्न खिलाड़ियों के काम की सराहना करते हैं और यह दिन उन सभी महान खिलाड़ियों की याद में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है।

राष्ट्रीय खेल दिवस का मुख्य उद्देश्य खेलों के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करना और मानव शरीर को इसके लाभों को समझने के लिए लोगों का ध्यान आकर्षित करना है।

राष्ट्रीय खेल दिवस कब मनाया जाता है?

29 अगस्त को पूरे देश में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया गया। इस दिन को 'हॉकी के जादूगर' के नाम से मशहूर मेजर ध्यानचंद की जयंती के रूप में मनाया जाता है।

क्या हॉकी एक राष्ट्रीय खेल है?

आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत में कोई राष्ट्रीय खेल नहीं है। अगर आप सरकारी वेबसाइटों और किताबों में पढ़ते हैं। लेकिन खेल मंत्रालय पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि भारत के पास फिलहाल कोई राष्ट्रीय खेल नहीं है.

हॉकी को प्राथमिकता दी गई है लेकिन यह राष्ट्रीय खेल नहीं है। राष्ट्रीय खेल के रूप में हॉकी एक लोकप्रिय खेल है।

हॉकी मैच कितने मिनट का होता है?

हॉकी मैच में 35-35 मिनट के दो हाफ होते हैं। प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी और 5 अतिरिक्त खिलाड़ी होते हैं। ओलंपिक में 12 टीमें होती हैं और इसलिए 6-6 के दो ग्रुप बनाए जाते हैं। प्रत्येक टीम समूह की बाकी टीमों के खिलाफ मैच खेलती है।

खेल से संबंधित महत्वपूर्ण ट्रॉफी कप जिसे हम ट्रिक के माध्यम से आसानी से याद रख सकते हैं.

Sports Winner Team Cup

हॉकी से संबंधित कप - मेजर ध्यानचंद हॉकी के बेटे हैं और जब यह हॉकी खेलते हैं तो रंगों के बारिश होने लगती है. तो ध्यान चंद से बना हमारा- ध्यानचंद कप, बेटे से बना- बेटन कप, रंगो से बना- रंगास्वामी कप.

गोल्फ से संबंधित कप - इस खेल को "प्रिंस" पर्सनालिटी वाले लोग ज्यादा पसंद करते हैं और इस खेल में गेंद को लाने के लिए एक स्थान से दूसरे स्थान पर "राइड" करके जाना पड़ता है इस वजह से यह काफी बोरिंग खेल है जिससे देखने वाले लोग "बकबक" करना शुरू कर देते हैं. तो दोस्तों यहां प्रिंस से बना - प्रिंस कप, राइड से बना हमारा - राइडर कप और बकबक से बना हमारा - बाकर कप.

फुटबॉल से संबंधित कप - जब रोनाल्डो फुटबॉल खेलता है तब लोगों को डर ने लगते हैं और भारत सब्र कर रहा है कि कब फुटबॉल विश्व कप जीत लूंगा तब जाकर मुझे संतोष मिलेगा. तो यहां हमारा रोनाल्डो से बना- रोनाल्डो कप, डर से बना- डूरंड कप, सब्र से बना- सुब्रतो कप और संतोष से बना- संतोष कप.

रोइंग से संबंधित कप- वेलिंगटन देश के चारों तरफ पानी है तो वहां के लोग हमेशा रोते रहते हैं तो याद रख सकते हैं कि रोइंग वेलिंगटन से संबंधित है और यहां वेलिंगटन से बना- वेलिंगटनकप.

टेनिस से संबंधित कप - टेनिस शब्द के उच्चारण और डेनिस शब्द का उच्चारण दोनों के एक जैसे मिलते हैं तो इसलिए हमारा टेनिस से संबंधित जो कप है वह - डेविस कप है.

बैडमिंटन से संबंधित कप- नारंगी रंग के चड्ढा पहनकर बैडमिंटन खेलोगे तो हर मैच जीत जाओगे.. यहां नारंग से बना हमारा- नारंग कप, चड्डा से बना- चड्डा कप

पोलो से संबंधित कप - भारतीय लोग पोलो को देखना है जरा सा भी पसंद नहीं करते हैं तो देखिए दोस्त यहां हमारा जरा से बना - एजरा कप.

वेटलिफ्टिंग से संबंधित कप- इस खेल में हर बार वजन मे वृद्धि किया जाता है और यहां हमारा वृद्धि से बना - वर्धमान कप.

बॉक्सिंग से संबंधित कप - दोस्तों इस खेल में जीतने वाले को किंग कहा जाता है और किंग से हमारा बना- किंग कप.

क्रिकेट से संबंधित कप - कपिल देव में भी देव आता है और देवधर में भी देव आता है तो आप आसानी से मालूम कर सकते हो कि देवधर ट्रॉफी क्रिकेट से संबंधित है . क्रिकेट तो लोगों के दिलों में बसा हुआ है तो ऐसे आप मालूम कर सकते हो कि दिलीप ट्रॉफी क्रिकेट से संबंधित है. क्रिकेटरों की लाइफ ऐश मौज की होती है तो ऐशेज कप भी हमारा क्रिकेट से संबंधित हुआ. C.K नायडू कप इसमें तो क्रिकेट का शार्ट नेम लिखा हूआ है... रणजी ट्रॉफी, ईरानी ट्रॉफी क्रिकेट संबंधित है जो कि आपको पता ही होगा.

  1. महिला क्रिकेट विश्व कप 2013 की विजेता टीम कौन सी है इंग्लैंड
  2. विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप 2017 कहां आयोजित की गई थी स्कॉटलैंड ग्लास्गो
  3. किस देश ने आईसीसी चैंपियनशिप ट्रॉफी 2017 जीती?- पाकिस्तान (भारत को हराकर)
  4. महिला हॉकी एशिया कप 2017 का खिताब किसने जीता?- भारत ने चीन को हरा कर
  5. फीफा वर्ल्ड कप 2017 किस देश ने जीता है?- इंग्लैंड ने
  6. कौन सा देश शीतकालीन ओलंपिक 2022 की मेजबानी करेगा?- चीन
  7. किस क्रिकेट टीम ने देवधर ट्रॉफी 2018 का 45 वां संस्करण जीता है?- भारत ने
  8. आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप 2018 किस शहर में आयोजित हुआ ?- सिडनी
  9. एशियाई खेल 2018 कहां आरंभ हुआ?- इंडोनेशिया
  10. ब्लाइंड क्रिकेट विश्व कप 2018 किस देश ने जीता है भारत
Editor

नमस्कार!🙏 मेरा नाम सरोज कुमार (वर्मा) है। और मुझे यात्रा करना, दूसरी जगह की संस्कृति को जानना पसंद है। इसके साथ ही मुझे ब्लॉग लिखना, और उस जानकारी को ब्लॉग के माध्यम से दूसरों के साथ साझा करना भी पसंद है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ा है, तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें सुधार किया जाए, तो आप इसके लिए टिप्पणी लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको अच्छी जानकारी देना है, और उसके लिए मुझे स्वयं उस जानकारी की वास्तविकता की जाँच करनी होती है। फिर वह जानकारी इस ब्लॉग पर प्रकाशित की जाती है।

आप इसे यहां नहीं पाएंगे। उदाहरण के लिए-

  • 🛑कंटेंट के बीच में गलत कीवर्ड्स का इस्तेमाल।
  • 🛑एक ही बात को बार-बार लिखना।
  • 🛑सामग्री कम लेकिन डींगे अधिक।
  • 🛑पॉपअप के साथ उपयोगकर्ता को परेशान करना।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो या कुछ सीखने को मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें। लेख को अंत तक पढ़ने के लिए एक बार फिर से दिल से धन्यवाद!🙏